Sunday , February 25 2024

फ़िल्म इंडस्ट्री में “कास्टिंग काउच” की परंपरा

केकेपी न्यूज़ ब्यूरो:

फिल्म इंडस्ट्री सपनों का मायाजाल है | इस में अपनों को खोजना समुन्द्र में सुई खोजने के बराबर है | यहाँ न कोई अपना है ना कोई पराया | जब तक जवानी है, सुंदर व सुडौल काया है तब तक यहाँ सब अपने हैं | यहाँ सपने बेंचे जाते हैं | जिसकी कीमत “कास्टिंग काउच” के मानक पर तय होती है | यानि आपने समझौता कर लिया तो सब आपका है वर्ना हम आपके हैं कौन ?

इसी कास्टिंग काउच से होकर गुजरी टीवी की मशहूर अभिनेत्री रतन राजपूत ने फिल्म इंडस्ट्री में कास्टिंग काउच का खुलासा करते हुए बताया कि 2008 में जब मै काम के लिए स्ट्रगल कर रही थी तब एक 65 वर्ष का फिल्म प्रोड्यूसर ने मुझे अपने साथ सोने को बोला | रतन राजपूत ने अपने ब्लॉग में बताया कि एक दिन मै उस फिल्म प्रोड्यूसर के यहाँ काम के सिलसिले में गयी थी |

उसने मुझे दखते ही बोला “अपने बाल देखो,अपनी स्किन देखो,अपनी बॉडी देखो, कुछ नहीं दीखता,देखो कपडे कैसे पहनती हो | तुम्हारा पूरा लुक चेंज करना पड़ेगा | तुम्हें मेकओवर की जरुरत है | जिसमे 2-2.5 लाख रूपये का खर्च आएगा | लेकिन मैं पैसा क्यों खर्च करूँगा | यदि तुम चाहती हो कि मैं यह पैसा खर्च करूँ तो तुम्हें मेरी दोस्त बनना होगा, और मेरे साथ सोना पड़ेगा |

रतन राजपूत कहती हैं कि ये सब सुनकर मैं हैरान हो गयी, और उनसे पूछा कि आप की उम्र मेरे पिता के बराबर है | मैं कैसे आपकी दोस्त बन सकती हूँ | इस पर वह प्रोड्यूसर नाराज हो गया और बोला कि मैं तुम्हारे लिए कुछ भी फ्री में नहीं कर सकता | यदि इस इंडस्ट्री में मेरी बेटी भी एक्ट्रेस बनने के लिए मेरे पास आती तो मैं उसके साथ भी सो जाता |

ये बात सुनकर मैं चौक गयी | मैं सोचने लगी कि कोई अपनी बेटी के साथ कैसे सो सकता है | इसके बाद मैं वापस आ गयी और फिल्म में काम के लिए कोशिश करना बंद कर दिया | रतन राजपूत ने बताया कि फिल्म में स्ट्रगल करने वाली लड़कियों के लिए मेरी सलाह है कि इस इंडस्ट्री में कभी भी कंप्रोमाइज ना करें |

Leave a Reply

Your email address will not be published.

eleven + 5 =

E-Magazine