Thursday , September 21 2023

स्वास्थ्य के लिए ड्राई फ्रूट्स के फायदे

तृप्ति शुक्ला : न्यूट्रीशनिस्ट:

अक्सर सुनते आएं हैं कि यदि हम रोजाना सुबह ड्रॉय फ्रूट्स खाएं तो न सिर्फ कई गंभीर बीमारियां दूर रहेंगी बल्कि स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है। ड्राय फ्रूट्स लंबे समय के लिए बेहद फायदेमंद होता है। कई अध्ययनों में पाया गया है कि रोजाना इसका सेवन करने वाले व्यक्ति के ब्रेन फंक्शन बेहतर होता है। साथ ही अल्जाइमर जैसे कई बीमारियों का खतरा नहीं होता है। यहां तक कि हॉर्वर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा करीब एक लाख लोगों पर की गई स्टडी में यह पाया गया है कि ड्राय फ्रूट्स को रोजाना डाइट में शामिल करने से उम्र भी बढ़ती है।
दिन के भोजन की अच्छी शुरुआत सूखे मेवों के बिना अधूरी है। यह पोषक तत्वों और ऊर्जा से भरपूर होते हैं। यह सुबह खाए जाने पर बहुत प्रभावकारी होते हैं। इन्हें सलाद में मिलाकर भी खाया जा सकता है। यह त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद होते हैं और इनका प्रयोग सुन्दरता निखारने में भी किया जाता है।
आइए जानते हैं कि ड्राय फ्रूट्स किन-किन समस्याओं को दूर करता है और क्या फायदे मिलते हैं-

कब और कितना खाएं ड्राय फ्रूट्स

वैसे तो ड्राय फ्रूट्स कैसे भी खाएं, फायदा ही करेंगे। लेकिन यदि रोजाना खाते हैं तो इसे एक नियमित रूप से सीमित मात्रा में और दिन में समयानुसार खाना चाहिए। ड्राय फ्रूट्स के कुछ कॉम्बिनेशन के साथ खाने से ज्यादा फायदेमंद होता है। रोजाना 4 नट्स-ड्राय फ्रूट का कॉम्बिनेशन को खाना चाहिए। उदाहरण के रूप में इस कॉम्बिनेशन में सुबह रोज रात को भिगोई हुई 4 बादाम, एक अखरोट, डेढ़ छोटा चम्मच खसखस और एक अंजीर शामिल हैं। यानि एक मुट्ठी ड्राय फ्रूट्स खाने से बॉडी को टोटल हेल्थ बेनिफिट्स मिलेंगे।

बादाम :

बादाम में मोनोसैचुरेटेड फैटी एसिड्स होते हैं। ये बैड कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम कर हार्ट हेल्दी रखने में मदद करते हैं।
बादाम खाने से ब्लड में अल्फा टोकोफेरॉल की मात्रा बढ़ जाती है, जिससे बीपी कंट्रोल करने में मदद मिलती है।
बादाम में एंटीऑक्सीडेंट्स की पर्याप्त मात्रा होती है। ये बढ़ती उम्र का असर कम करने और स्किन को हेल्दी रखने में मदद करते हैं।

किशमिश :

किशमिश के नियमित सेवन से आपके दांत स्वस्थ और सफ़ेद रहते हैं और उनका क्षय नहीं होता है। किसमिस खाने के फायदे, इसमें विटामिन A होता है जो आँखों की सुरक्षा करता है। यह आपकी त्वचा को स्वस्थ रखती है और उम्र बढ़ने की गति को भी धीमा करती है। इसके पोटैशियम, मैग्नीशियम और लौह होता हैं जो रक्ताल्पता जैसी बीमारियों के लिए फायदेमंद है।

अखरोट :

अखरोट में ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है जो त्वचा को सुन्दर बनता है और रूखा होने से बचाता है। हमारे मस्तिष्क का 69% हिस्से में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है और अखरोट में यह प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसके बने स्क्रब से मृत त्वचा हट जाती है और इसके नियमित सेवन से बाल भी स्वस्थ हो जाते हैं। इसमें कैंसर से लड़ने की क्षमता होती है मुख्यता स्तन के कैंसर से। इस तरह से यह पूरे शरीर के लिए फायदेमंद है।
अखरोट खाने से बॉडी की इम्यूनिटी बढ़ती है। इससे इन्फेक्शन से बचाव होता है और बीमारियों का खतरा टलता है।

काजू :

काजू खाने के फायदे, काजू को नियमित खाने से वज़न कम करने में सहायता मिलती है। कई सौंदर्य प्रसाधनो में इसका उपयोग होता है क्योंकि यह त्वचा की रक्षा करता है और रंग निखारता है। इसमें विटामिन E प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।

पिस्ता:

पिसते में बहुत मात्रा में विटामिन E पाया जाता है जो यूवी किरणों से, असामयिक आयु वृद्धि से और त्वचा के कैंसर से रक्षा करता है। यह कैरोटिनोइड्स, ल्यूटीन, जीआक्सानथिन जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसमें एंटीओक्सिडेंट भी काफी होता है जो आयु वृद्धि की गति को कम करता है।

छोहारा / छुआरे :

छुआरे में विटामिन A होता है जो आँखों की देखभाल करता है। इसमें मैंगनीज पाया जाता है जो ऑक्सीजन की सहायता से कैलोरी जलाता है और ऊर्जा में वृद्धि करता है साथ ही यह प्रतिरोधक क्षमता भी बढाता है और शरीर की जीवाणुओ और विषाणुओं से रक्षा करता है।

कद्दू के बीज :

कद्दू के बीज दुनिया के कई स्थानों पर सुखा कर खाए जाते हैं। इसमें मौजूद विटामिन K , विटामिन B , लौह तत्व , मैंगनीज , फॉस्फोरस इत्यादि बढती उम्र में जोड़ों के दर्द , गठिया , कोलेस्ट्रोल , अस्थि-सुषिरता और ह्रदय रोगों से रक्षा करते हैं। यह गुर्दों में पथरी होने से भी रोकता है।

खसखस :

खसखस में पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम होता है, जो बढ़ती उम्र में भी हड्डियां मजबूत रखने में मदद करता है।
खसखस फाइबर का बहुत अच्छा सोर्स है। इसे खाने से डाइजेशन सुधरता है और कब्ज की प्रॉब्लम नहीं होती।

अंजीर:

एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर अंजीर कैंसर का खतरा टालने में मदद करता है।
इसमें पर्याप्त मात्रा में आयरन होता है। इसलिए इसे खाने से एनीमिया की प्रॉब्लम नहीं होती।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

5 × 2 =

E-Magazine