Saturday , June 15 2024

पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा के नियमों में बदलाव-प्रमुख सचिव,प्राविधिक शिक्षा

पूनम शुक्ला : मुख्य प्रबन्ध संपादक :

पॉलिटेक्निक में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया समाप्त होने के साथ यह प्रवेश परीक्षा को लेकर नए नियम लागू बनाए जाने लगे हैं। इस बार पहले नियमों के तहत 13 से 20 जून के बीच प्रदेश के सभी जिलों में प्रवेश परीक्षा होगी। संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद में प्रवेश के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुक्रवार को समाप्त कर दी ।
इसी के साथ ही प्रवेश पत्र और परीक्षा को लेकर तैयारियां शुरू कर दी गई।संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद की वेबसाइट jeecup.admissions.nic.in से ही प्रवेश पत्र डाउनलोड किए जा सकेंगे।
इस बार प्रवेश परीक्षा में जीरो अंक पाने वाले अभ्यर्थियों का पॉलिटेक्निक में प्रवेश नहीं होगा। संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद की ओर से जारी किए गए नियमों के तहत 100 प्रश्नों वाली परीक्षा में कम से कम एक प्रश्न सही करना अनिवार्य है। इससे पहले परीक्षा में शामिल होने पर जीरो नंबर मिलने के बावजूद भी अभ्यर्थियों का प्रवेश पॉलिटेक्निक में हो जाता था। इस बार ऐसा नहीं होगा।

नए नियम लागू होने से मनमानी पर लगाम लगने के आशंका दिख रही है। नया नियम लागू होने के साथ संस्थाओं के संचालको की नींद उड़ गई है। पहले जीरो पाने वाले अभ्यर्थियों को भी निजी संस्थान में प्रवेश के लिए केवल पॉलिटेक्निक परीक्षा में बैठना अनिवार्य था। लेकिन अब एक प्रश्न हल करने की अनिवार्यता से मनमाने प्रवेश पर लगाम लगेगी, और साथ ही सीट भरने की चुनौती भी होगी।
इस माह के अंत तक प्रवेश पत्र वेबसाइट पर अपलोड हो जाएंगे। प्रवेश में सरकारी सहायता प्राप्त और निजी संस्थानों में प्रवेश के लिए कुल 244972 सीटें हैं। जिसमें सरकारी संस्थान की 154, सहायता प्राप्त संस्थान की 19, और निजी संस्थान की 1127 सीटें हैं। यह प्रवेश परीक्षा 400 अंकों की होगी। प्रमुख सचिव, प्राविधिक शिक्षा एम देवराज ने बताया कि तकनीकी शिक्षा के गुणवत्ता के सुधार के लिए इस बार पॉलिटेक्निक में प्रवेश के नियमों में बदलाव किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ten − 4 =

E-Magazine