Tuesday , July 23 2024

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को भेजा गया तिहाड़ जेल

पूनम शुक्ला : मुख्य प्रबन्ध संपादक :
शराब नीति से जुड़े मनी लांड्रिंग केस में दिल्ली की कोर्ट ने सीएम अरविंद केजरीवाल को 15 अप्रैल तक के लिए न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेजा गया | उन्हें बैरक नंबर दो में अकेले रखा गया है, इससे पहले ED ने कोर्ट में कहा कि सीएम ने पूछताछ के दौरान बिल्कुल सहयोग नहीं किया | ED की हिरासत अवधि पूरे होने के बाद केजरीवाल को राउंज रिवेन्यू कोर्ट में पेश किया था।
सोमवार को कोर्ट ले जाने के दौरान केजरीवाल ने पत्रकारों से कहा कि पीएम जो कुछ भी कर रहे हैं वह देश के लिए अच्छा नहीं है। उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल ने कहा कि देश की जनता इस तानाशाही का जवाब देगी।
ईडी हिरासत में भी केजरीवाल की तरफ से आदेश आने का दिल्ली सरकार और उनकी पार्टी दावा करती रही है और खुद अरविन्द केजरीवाल ने भी कहा था कि अगर जेल चला गया तो वहां से भी सरकार चलाऊंगा ।ऐसे में दिल्ली सरकार आगे से जेल से चल सकती है।
ईडी की कस्टडी में आदेश देने से रोकने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की गई थी उस पर ईडी ने हाई कोर्ट से कहा कि उन्होंने केजरीवाल को आदेश पारित करने से जुड़ी जरूरी सुविधाएं नहीं दी हैं। ईडी ने राउंड रिवेन्यू कोर्ट में केजरीवाल के ऊपर आरोप लगाया है कि अरविंद केजरीवाल से जब उनके करीबी और मामले में मुख्य आरोपित विजय नायक के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि नायर मुझे नहीं, आतिशी और सौरभ भारद्वाज को रिपोर्ट करते थे। इस दावे पर “आप” पार्टी के प्रवक्ता ने कहा कि विजय नायर यह बात पहले ही कह चुके हैं | ईडी यह बात को डेढ़ साल बाद फिर क्यों उठा रही है।

दरअसल, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने तिहाड़ में समय बिताने के लिए तीन किताबें रामायण, भागवत गीता, और “हाऊ प्राइम मिनिस्टर डिसाइड” नामक किताबों की माँग कोर्ट से की है | अपने वकील के माध्यम से केजरीवाल ने दवाएं, स्पेशल डाइट और कुर्सी-मेज की भी मांग की है जिस पर कोर्ट ने मोहर लगा दी है | उन्हें अपना गद्दा,बेडशीट, दो तकिया और रजाई की भी इजाजत मिली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

18 − one =

E-Magazine